रासायनिक अभिक्रियाओं के प्रकार - Future Study Point

रासायनिक अभिक्रियाओं के प्रकार

रासायनिक अभिक्रियाओं के प्रका

रासायनिक अभिक्रियाओं के प्रकार

रासायनिक अभिक्रियाएँ और समीकरण,कक्षा 10 CBSE Board हिन्दी मीडियम साइन्स साइड छात्रों के लिए NCERT अध्याय 1 ‘रासायनिक अभिक्रियाएँ और समीकरण ‘ से लिया गया है,यह पोस्ट CBSE साइन्स के अध्यापक द्वारा लिखी गयी है।”रासायनिक अभिक्रियाओं के प्रकार” पोस्ट सभी विज्ञान के छात्रों और उन छात्रों के लिए समझना बहुत महत्वपूर्ण है जो कक्षा 10 के बोर्ड exam या class test की तैयारी कर रहें है या जो राष्ट्रीय प्रतिभा खोज या छात्रवृत्ति प्रवेश परीक्षा और अन्य प्रवेश परीक्षाओं में शामिल होने जा रहे हैं। “रासायनिक अभिक्रियाओं के प्रकार” पोस्ट आपको उन कई शंकाओं को दूर करने में मदद करेगी जो पिछली कक्षाओं में आप स्पष्ट नहीं कर पाये थे। “रासायनिक अभिक्रियाओं के प्रकार” रसायन विज्ञान का मूल संकल्पना है, इसलिए इसका अध्ययन किए बिना आप रसायन विज्ञान को गहराई से नहीं समझ सकते हैं।

रासायनिक अभिक्रियाओं के प्रका

 

हमने पढ़ा है कि रासायनिक अभिक्रिया के दौरान एक तत्व के परमाणु दूसरे तत्व के परमाणुओं में नहीं बदलते हैं, न ही परमाणु मिश्रण से गायब होते हैं या कहीं और से प्रकट होते हैं। दरअसल, रासायनिक अभिक्रियाओं में नए पदार्थों का उत्पादन करने के लिए परमाणुओं के बीच आबन्ध को तोड़ना और बनाना शामिल है।

रासायनिक अभिक्रियाओं के प्रकार 

रासायनिक अभिक्रियाएं 7 प्रकार की होती हैं संयोजन अभिक्रिया,वियोजन अभिक्रिया,विस्थापन अभिक्रिया,द्विविस्थापन अभिक्रिया,ऑक्सीकरण अभिक्रिया,अपचयन अभिक्रिया और रेडॉक्स अभिक्रिया।

संयोजन अभिक्रियाएं:

इस रासायनिक अभिक्रिया में, दो या दो से अधिक पदार्थ एक एकल यौगिक बनाते हैं। निम्नलिखित रासायनिक अभिक्रिया में, कैल्शियम ऑक्साइड पानी के साथ तीव्रता से अभिक्रिया करके बुझा हुआ चूना (कैल्शियम हाइड्रॉक्साइड) बनाता है जिससे बड़ी मात्रा में ऊष्मा निकलती है।

Calcium oxide(quick lime) +Water= Calcium hydroxide(slaked lime)
Cao(s) +H2O(l) = Ca(OH)2(aq)

इस अभिक्रिया में, कैल्शियम ऑक्साइड और पानी मिलकर एक एकल उत्पाद, कैल्शियम हाइड्रॉक्साइड बनाते हैं। ऐसी रासायनिक अभिक्रिया जिसमें दो या दो से अधिक अभिकारकों से एक ही उत्पाद बनता है, ऐंसी रासायनिक अभिक्रिया को संयोजन अभिक्रिया कहलाती है।

संयोजन अभिक्रिया के कई उदाहरण हैं, उदाहरण के तौर पर कोयले का जलना, हाइड्रोजन और ऑक्सीजन से जल का निर्माण।

हम यह भी निरीक्षण करते हैं कि अधिकांश संयोजन अभिक्रिया में ऊष्मा मुक्त होती है, ऐसी संयोजन अभिक्रिया जिसमें ऊष्मा भी निकलती है, ऊष्माक्षेपी अभिक्रिया कहलाती है। तो हम कह सकते हैं कि प्रत्येक ऊष्माक्षेपी अभिक्रिया एक संयोजन अभिक्रिया है लेकिन यह आवश्यक नहीं है कि प्रत्येक संयोजन अभिक्रिया ऊष्माक्षेपी हो, ऊष्माक्षेपी अभिक्रिया संयोजन अभिक्रिया का एक विशेष केश है जिसमें ऊष्मा निकलती है।

(i) प्राकृतिक गैस का जलना

मेथेन +ऑक्सीजन =कार्बन डाय ऑक्साइड+जल

CH4 (g)+O2 (g)= CO2 (g)+H2O(l)

(ii) श्वसन अभिक्रिया ऊष्माक्षेपी अभिक्रिया का एक उदाहरण है। भोजन के पाचन के दौरान कार्बोहाइड्रेट ग्लूकोज के रूप में टूट जाता है, यह ग्लूकोज हमारे शरीर की कोशिकाओं में ऑक्सीजन के साथ मिलकर ऊर्जा की मुक्ति के साथ कार्बन डाइऑक्साइड और पानी बनाता है।

वियोजन अभिक्रियाएँ

यह वह रासायनिक अभिक्रिया है जिसमें एक उत्पाद दो या दो से अधिक उत्पादों में बंट जाता है।इस अभिक्रिया में, आप देख सकते हैं कि एक एकल अभिकारक सरल उत्पादों को मुक्त करने के लिए टूट जाता है। यह एक वियोजन अभिक्रिया है। फेरस सल्फेट क्रिस्टल FeSO4. 7H2O गर्म करने पर H2O को मुक्त कर देता है और क्रिस्टल का रंग हल्के हरे से सफेद में बदल जाता है। अधिक गर्म करने पर काले रंग का ठोस पदार्थ फेरिक ऑक्साइड ,Fe2O3 बनने के कारण सफेद रंग गहरे भूरे रंग में बदल जाता है सल्फर डाइऑक्साइड SO2 और सल्फर ट्राइऑक्साइड SO 3 ,फेरिक ऑक्साइड एक ठोस है, जबकि SO2 और SO3 गैसें हैं।

फेरस सल्फेट क्रिस्टल (गर्म करने पर)→ फेरस सल्फेट

FeSO4. 7H2O →  FeSO4+7H2O

फेरस सल्फेट (गर्म करने पर)→ फेरिक ऑक्साइड+सल्फर डाइऑक्साइड +सल्फर ट्राइऑक्साइड

2FeSO(s)→ Fe2O3(s)+SO2(g)+SO3(g)

वियोजन अभिक्रियाएँ के प्रकार

(1) ऊष्मीय वियोजन अभिक्रिया-जब एक एकल अभिकारक गर्म करने के बाद सरल उत्पादों में बंट जाता है। गर्म करने पर कैल्शियम कार्बोनेट का कैल्शियम ऑक्साइड और कार्बन डाइऑक्साइड में वियोजन विभिन्न उद्योगों में उपयोग की जाने वाली एक महत्वपूर्ण ऊष्मीय वियोजन प्रतिक्रिया है। कैल्शियम ऑक्साइड को चूना या बिना बुझा चूना कहा जाता है। इसके कई उपयोग हैं – जैंसे कि सीमेंट निर्माण में इसका उपयोग होता है।

कैल्शियम कार्बोनेट(गर्म करने पर) =कैल्शियम ऑक्साइड+कार्बन डाय ऑक्साइड
CaCO3 (s)= CaO(s) +CO2(g)

जब पोटेशियम क्लोरेट को गर्म किया जाता है तो यह पोटेशियम क्लोराइड और ऑक्सीजन में टूट जाता है।

पोटेशियम क्लोराइड= पोटैशियम क्लोरेट +ऑक्सीजन
2KClO3 (गर्म करने पर)= 2KCl + 3O2

जब फेरिक हाइड्रॉक्साइड को गर्म किया जाता है तो यह फेरिक ऑक्साइड और जल में वियोजित हो जाता है।

फेरिक हाइड्रॉक्साइड=फेरिक ऑक्साइड +जल
2Fe(OH)3 = Fe2O3 + 3H2O

(2) विद्युत अपघटन-जब किसी यौगिक के जलीय घोल में विद्युत धारा प्रवाहित की जाती है और यह अपघटन की प्रक्रिया से गुजरता है तो इसे विद्युत अपघटन या विद्युत वियोजन के रूप में जाना जाता है।

विद्युत अपघटन का सबसे अच्छा उदाहरण पानी और सोडियम क्लोराइड का विद्युत अपघटन है।
H2O(जल)= H2(कैथोड) + O2(एनोड)

जब किसी वैद्युत उपकरण में मौजूद जल में विद्युत धारा प्रवाहित की जाती है तो जल ऑक्सीजन और हाइड्रोजन में विघटित हो जाता है जो क्रमशः कैथोड और एनोड पर एकत्र हो जाती हैं।

जब विद्युत अपघटन सोडियम क्लोराइड के जलीय घोल के माध्यम से होता है, तो यह सोडियम और क्लोरीन में विघटित या वियोजित हो जाता है, सोडियम कैथोड पर एकत्र होता है और क्लोरीन एनोड पर एकत्र होता है।

2NaCl(aq) →विद्युत →2Na(s) +Cl2(g)

(3) प्रकाशीय वियोजन – जब सूर्य का प्रकाश कुछ पदार्थों में पड़ता है तो वे अपघटित हो जाते हैं जिसे प्रकाशीय वियोजन कहते हैं।

कांच की प्लेट पर थोड़ी मात्रा में सिल्वर क्लोराइड रखने पर, और जब इसमें सूरज की रोशनी गुजारी जाती है, तो सिल्वर क्लोराइड का चांदी और क्लोरीन में अपघटन के कारण सिल्वर क्लोराइड के सफेद क्रिस्टल भूरे या धूसर रंग में बदल जाते हैं क्यों कि चांदी का रंग भूरा होता है ।

2AgCl(white) → 2Ag(grey) + Cl2

2AgBr(pale yellow) → 2Ag(grey) + Br2

विस्थापन अभिक्रिया

रासायनिक अभिक्रिया का वह प्रकार जिसमें उच्च क्रियाशील पदार्थ का एक परमाणु दूसरे पदार्थ के कम क्रियाशील पदार्थ के अणु से एक परमाणु को विस्थापित करके एक नया यौगिक बनाता है, ऐसी अभिक्रिया को विस्थापन अभिक्रिया के रूप में जाना जाता है।

उदाहरण-तांबे के घोल में डुबोई गई लोहे की कील, विस्थापन अभिक्रिया के कारण कॉपर सल्फेट का नीला रंग फीका पड़ जाता है तथा हरे रंग में बदल जाता है।

Fe+CuSO4(नीला) → FeSO4(हरा)+Cu

इस अभिक्रिया में आयरन तांबे की तुलना में अधिक क्रियाशील होने के रण,आयरन का परमाणु तांबे के परमाणु को विस्थापित कर देता है और आयरन सल्फेट बनाता है।
विस्थापन अभिक्रियाओं के इस तंरह के अन्य उदाहरण निम्नलिखित हैं।

Zn+CuSO4(नीला) → ZnSO4(रंगहीन)+Cu

Pb+CuSO4(नीला) → PbSO4(सफेद)+Cu

उपरोक्त दोनों अभिक्रियाओं से पता चलता है कि जस्ता और सीसा तांबे की तुलना में अधिक क्रियाशील है।

द्विविस्थापन अभिक्रिया

वह अभिक्रिया जिसमें दो अभिकारकों के बीच आयनों का आदान-प्रदान होता है, द्विविस्थापन अभिक्रिया कहलाती है

सोडियम सल्फेट के जलीय घोल को जब बेरियम क्लोराइड के जलीय घोल में मिलाया जाता है, तो एक अघुलनशील पदार्थ बनता है जो टेस्ट ट्यूब के नीचे अवक्षेपित हो जाता है, ऐसी प्रतिक्रिया को अवक्षेपण अभिक्रिया के रूप में भी जाना जाता है।

Na2SO4(aq) +BaCl2(aq)→BaSO4(s)+NaCl(aq)

ऑक्सीकरण अभिक्रिया

ऑक्सीकरण एक अणु, परमाणु या आयन द्वारा अभिक्रिया के दौरान इलेक्ट्रॉनों की क्षति है। ऑक्सीकरण तब होता है जब किसी अणु, परमाणु या आयन की ऑक्सीकरण अवस्था बढ़ जाती है।

उदाहरण:

ऑक्सीकरण तब होता है जब आइरन ऑक्सीजन के साथ मिलकर आयरन ऑक्साइड या जंग बनाता है। ऐसा कहा जाता है कि आइरन ऑक्सीकृित होकर जंग में परिवर्तित हो जाता है।

इसकी रासायनिक अभिक्रिया निम्न है:
2Fe + O2 = Fe2O3(जंग)

आइरन धातु ऑक्सीकृत होकर आइरन ऑक्साइड बनाती है जिसे जंग लगना कहा जाता है।

अपचयन अभिक्रिया

अपचयन अणु, परमाणु या आयन द्वारा अभिक्रिया के दौरान इलेक्ट्रॉनों में वृद्धि है। अपचयन तब होता है जब किसी अणु, परमाणु या आयन की अपचयन अवस्था कम हो जाती है।

उदाहरण:

कॉपर ऑक्साइड और मैग्नीशियम के बीच अभिक्रिया से कॉपर और मैग्नीशियम ऑक्साइड बनता है:

CuO + Mg →  MgO + Cu

रेडॉक्स अभिक्रिया

ऐसी अभिक्रिया जिसमें एक अभिकारक ऑक्सीकरण प्रक्रिया से गुजरता है जबकि दूसरा अभिक्रिया के दौरान अपचयित हो जाता है, ऑक्सीकरण-अपचयन अभिक्रिया या रेडॉक्स अभिक्रिया कहलाती है।

उदाहरण:

Fe2O3 + 3CO ⇒ 3Fe + CO2

यहाँ फेरिक ऑक्साइड आइरन में अपचयित हो जाता है और कार्बन मोनोऑक्साइड कार्बन डाइऑक्साइड में ऑक्सीकृत हो जाती है,यहाँ फेरिक ऑक्साइड एक ऑक्सीकारक है और कार्बन मोनो ऑक्साइड एक अपचायक है।

हमारे दैनिक जीवन में ऑक्सीकरण अभिक्रिया का अनुप्रयोग

संक्षारण:आपने देखा होगा कि आइरन के कण प्रारम्भ में चमकदार होते हैं, लेकिन कुछ समय बाद उनके रंग में बदलाव आ जाता है। कुछ समय बाद ये कण लाल रंग के पाउडर से लेपित हो जाते हैं। इस प्रक्रिया को आमतौर पर लोहे में जंग लगना कहा जाता है। कुछ अन्य धातुएँ भी इसी प्रकार धूमिल हो जाती हैं। क्या आपने तांबे और चांदी पर बनी परत के रंग पर ध्यान दिया है? जब किसी धातु पर उसके आस-पास के पदार्थों जैसे नमी, अम्ल,क्षार आदि का हमला होता है, तो इसे संक्षारण कहा जाता है और इस प्रक्रिया को संक्षारण कहा जाता है। चाँदी पर काली परत और तांबे के तल पर धूसर परत संक्षारण के अन्य उदाहरण हैं।

संक्षारण से कार की बॉडी, पुल, लोहे की रेलिंग, जहाज और धातुओं से बनी सभी वस्तुओं, विशेषकर लोहे से बनी वस्तुओं को नुकसान होता है। लोहे का क्षरण एक गंभीर समस्या है। क्षतिग्रस्त लोहे को बदलने के लिए हर साल भारी मात्रा में धन खर्च किया जाता है।

विकृतगन्धिता:क्या आपने कभी बासी खाने को को चखा या सूंघा है? खाद्य पदार्थ अक्सर वसा/तेल युक्त होते है।जब वसा और तेल का ऑक्सीकरण होता है, तो नये यौगिक बन जाते हैं और खाने की गंध और स्वाद खराब हो जाता है। आमतौर पर, वसा और तेल वाले खाद्य पदार्थों में ऑक्सीकरण को रोकने वाले पदार्थ (एंटीऑक्सिडेंट) मिलाए जाते हैं। भोजन को वायुरोधी पात्रों में रखने से ऑक्सीकरण को धीमा करने में मदद मिलती है। क्या आप जानते हैं कि चिप्स निर्माता आमतौर पर चिप्स को ऑक्सीकृत होने से बचाने के लिए चिप्स की थैलियों को नाइट्रोजन जैसी गैस से भर देते हैं,क्यों कि नाइट्रोजन भारी होने की वजह से ऑक्सीजन को विस्थापित कर देती है,और नाइट्रोजन वसा और तेल वाले खाद्य पदार्थों के साथ क्रिया नहीं करती है।

विद्युत प्रतिरोध क्या है?What is Electrical resistance?

धातुओं की सक्रियता श्रेणी क्या है इसके उपयोग बताइए?

आसमान में बिजली और गड़गड़ाहट का कारण क्या है?

विद्युत विभवांतर क्या है?What is Electric Potential Difference?

ओजोन परत का क्षय कैसे हो रहा है?

विस्थापन और द्विविस्थापन अभिक्रियाएँ

प्रकाश का वर्ण विक्षेपण और प्रकीर्णन क्या हैं?What is dispersion and scattering of light?

प्रकाश का परावर्तन और अपवर्तन क्या है?

विद्युत धारा का तापीय प्रभाव क्या होता है?

आयनिक (ionic)और सहसंयोजी(covalent) यौगिकों के बीच अंतर

संक्षारण(corrosion) और विकृतगंधिता(rancidity) क्या है ?

एक पारितंत्र में खाद्य श्रृंखला और खाद्य जाल

गर्मियों में मिट्टी के घड़े में रखा पानी ठंडा कैसे हो जाता है?

कोशिका(Cell) की संरचना और कार्य: Cell Biology

संगलन की गुप्त ऊष्मा और वाष्पीकरण की गुप्त ऊष्मा क्या होती है?

आण्विक द्रव्यमान,मोलर द्रव्यमान और मोल संकल्पना

वाष्पन(Evaporation) की प्रक्रिया को प्रभावित करने वाले कारक कौन से हैं?

द्रव्यमान और भार में क्या अंतर है

CBSE बोर्ड और  Entrance Exams के लिए कक्षा 9 और 10 के important science Notes

दूरी (Distance)और विस्थापन(Displacement) में क्या अंतर है

न्यूटन के गति के तीन नियम

चिकनी अंतर्दव्यी जालिका(SER) और खुरदुरीअंतर्दव्यी जालिका(RER) के बीच अंतर

माइटोकॉन्ड्रिया (Mitochondria)के कार्य एवं संरचना

जड़त्व क्या है?इसके प्रकार और उदाहरण

विलयन, कोलाइड और निलम्बन के बीच अंतर

चाल और वेग में क्या अंतर है?

संवेग: परिभाषा, मात्रक, सूत्र और वास्तविक जीवन में उपयोग: कक्षा 9 सीबीएसई

परमाणु और अणु में क्या अंतर है?

प्रोकैरियोटिक कोशिका और यूकेरियोटिक कोशिका में क्या अंतर है?

डीएनए प्रतिलिपीकरण का महत्व और जीवों में विविधता।

गुणशूत्र, डीएनए और जीन क्या होते हैं?

कार्य, ऊर्जा और शक्ति परिभाषा, शूत्र,मात्रक उदाहरण सहितः कक्षा 9 सीबीएसई

ग्रीनहाउस प्रभाव क्या है?

तरंगदैर्घ्य क्या है?

परमाणु और आयन के बीच अंतर: कक्षा 9 सीबीएसई साइंस

गतिजऔर स्थतिज ऊर्जा के बीच अंतर और उनके सूत्रों का सत्यापन

जन्तु कोशिका और पादप कोशिका में अंतर

कोशिका में प्लाज्मा झिल्ली का क्या काम होता है?

हमारे शरीर का अन्तःस्रावी तन्त्र

NCERT Solutions of  Science and Maths for Class 9,10,11 and 12

NCERT Solutions of class 9 maths

Chapter 1- Number SystemChapter 9-Areas of parallelogram and triangles
Chapter 2-PolynomialChapter 10-Circles
Chapter 3- Coordinate GeometryChapter 11-Construction
Chapter 4- Linear equations in two variablesChapter 12-Heron’s Formula
Chapter 5- Introduction to Euclid’s GeometryChapter 13-Surface Areas and Volumes
Chapter 6-Lines and AnglesChapter 14-Statistics
Chapter 7-TrianglesChapter 15-Probability
Chapter 8- Quadrilateral

NCERT Solutions of class 9 science 

Chapter 1-Matter in our surroundingsChapter 9- Force and laws of motion
Chapter 2-Is matter around us pure?Chapter 10- Gravitation
Chapter3- Atoms and MoleculesChapter 11- Work and Energy
Chapter 4-Structure of the AtomChapter 12- Sound
Chapter 5-Fundamental unit of lifeChapter 13-Why do we fall ill ?
Chapter 6- TissuesChapter 14- Natural Resources
Chapter 7- Diversity in living organismChapter 15-Improvement in food resources
Chapter 8- MotionLast years question papers & sample papers

CBSE Class 9-Question paper of science 2020 with solutions

CBSE Class 9-Sample paper of science

CBSE Class 9-Unsolved question paper of science 2019

NCERT Solutions of class 10 maths

Chapter 1-Real numberChapter 9-Some application of Trigonometry
Chapter 2-PolynomialChapter 10-Circles
Chapter 3-Linear equationsChapter 11- Construction
Chapter 4- Quadratic equationsChapter 12-Area related to circle
Chapter 5-Arithmetic ProgressionChapter 13-Surface areas and Volume
Chapter 6-TriangleChapter 14-Statistics
Chapter 7- Co-ordinate geometryChapter 15-Probability
Chapter 8-Trigonometry

CBSE Class 10-Question paper of maths 2021 with solutions

CBSE Class 10-Half yearly question paper of maths 2020 with solutions

CBSE Class 10 -Question paper of maths 2020 with solutions

CBSE Class 10-Question paper of maths 2019 with solutions

NCERT solutions of class 10 science

Chapter 1- Chemical reactions and equationsChapter 9- Heredity and Evolution
Chapter 2- Acid, Base and SaltChapter 10- Light reflection and refraction
Chapter 3- Metals and Non-MetalsChapter 11- Human eye and colorful world
Chapter 4- Carbon and its CompoundsChapter 12- Electricity
Chapter 5-Periodic classification of elementsChapter 13-Magnetic effect of electric current
Chapter 6- Life ProcessChapter 14-Sources of Energy
Chapter 7-Control and CoordinationChapter 15-Environment
Chapter 8- How do organisms reproduce?Chapter 16-Management of Natural Resources

Solutions of class 10 last years Science question papers

CBSE Class 10 – Question paper of science 2020 with solutions

CBSE class 10 -Latest sample paper of science

NCERT solutions of class 11 maths

Chapter 1-SetsChapter 9-Sequences and Series
Chapter 2- Relations and functionsChapter 10- Straight Lines
Chapter 3- TrigonometryChapter 11-Conic Sections
Chapter 4-Principle of mathematical inductionChapter 12-Introduction to three Dimensional Geometry
Chapter 5-Complex numbersChapter 13- Limits and Derivatives
Chapter 6- Linear InequalitiesChapter 14-Mathematical Reasoning
Chapter 7- Permutations and CombinationsChapter 15- Statistics
Chapter 8- Binomial Theorem Chapter 16- Probability

CBSE Class 11-Question paper of maths 2015

CBSE Class 11 – Second unit test of maths 2021 with solutions

NCERT solutions of class 12 maths

Chapter 1-Relations and FunctionsChapter 9-Differential Equations
Chapter 2-Inverse Trigonometric FunctionsChapter 10-Vector Algebra
Chapter 3-MatricesChapter 11 – Three Dimensional Geometry
Chapter 4-DeterminantsChapter 12-Linear Programming
Chapter 5- Continuity and DifferentiabilityChapter 13-Probability
Chapter 6- Application of DerivationCBSE Class 12- Question paper of maths 2021 with solutions
Chapter 7- Integrals
Chapter 8-Application of Integrals

 

 

 

 

Scroll to Top